मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023: वृक्षारोपण के लिए सरकारी सब्सिडी

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023: छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में एक नई योजना को लौंच किया है जिसका नाम Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana 2023 है | इस article में हम मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023 (Plantation Promotion Scheme) के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे | प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश भघेल जी के द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है |

प्रदेश में वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए और किसानो की आय को दोगुना करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ सरकार ने मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना को शुरू किया है | छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा शुरू किये गए न्यू एकीकृत किसान पोर्टल के माध्यम से आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है | इस article में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023 में आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे इस लिए आप इस article को पूरा अंत तक पढ़े |

Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana 2023

प्रदेश में वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए इस योजना को शुरू किया गया है | राज्य सरकार प्रदेश के नागरिको और किसानो की वित्तीय सहायता करने के लिए समय समय पर कई प्रकार की सरकारी योजना ला रही है | मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023 के तहत जो किसान धान के बदले पोधारोपन करेगा , उन्हें सरकार के द्वारा वितीय मदद दी जाएगी | एसे किसान जिन्होंने खरीफ फसल 2020 में धान की फसल ली हो और शासन को यह धान बेचा है.

इस प्रकार से किसान यदि धान के बदले अपने खेतो में वृक्षारोपण करते है तो उन्हें सरकार की और से प्रतिवर्ष प्रति एकड़ 10,000 रूपये की वित्तीय मदद दी जाती है | लाभार्थी को यह वित्तीय मदद 3 साल तक लगातार दी जाती है | जिस भूमि पर वन अधिकार पत्र दिए गए है अगर इस प्रकार की भूमि पर किसान पोधारोपण करता है तो उसे 10,000 रूपये की वित्तीय मदद प्रति एकड़ दी जाएगी |

जो किसान CG Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana 2023 का लाभ लेना चाहता है उसे इस योजना में आवेदन करना होगा | सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के लिए ऑफिसियल पोर्टल लौंच किया गया है जिसके माध्यम से आप इस योजना में आवेदन कर सकते है | अगर आप इस योजना में ऑनलाइन आवेदन नहीं करना चाहते है तो आप ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है | किसानो की आय को दोगुना करने के लिए सरकार ने पहले से गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना जैसी योजनायें चला रखी है जिनका काफी लाभ किसानो को मिल रहा है |

Highlights of MVPY

योजना का नामसीजी मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2023
योजना का प्रकारराज्य सरकार की योजना
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री श्री भूपेश भघेल जी के द्वारा
लाभार्थीप्रदेश के नागरिक
उद्देश्यवृक्षारोपण को बढ़ावा देना
दी जाने वाली सहायता राशी10,000 रूपये प्रति एकड़
कितने वर्ष तक दी जाएगी3 वर्ष तक
आवेदन मोडऑनलाइन / ऑफलाइन

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो के निजी क्षेत्र, वन अधिकार पत्र धारक की भूमि, शासकीय विभागों, संयुक्त वन प्रबंधन समिति एवं ग्राम पंचायतों की राजस्व भूमि पर ईमारती, गैर ईमारती प्रजातियों के वाणिज्यिक/औद्योगिक वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देना है | इस योजना से पर्यावरण में सुधार आएगा और जलवायु परिवर्तन के विपरीत प्रभावों को कम किया जा सकेगा | Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana से राज्य के किसानो की आय दोगुनी होगी | योजना के तहत निजी तथा सामुदायिक भूमि पर वृक्षारोपण को बढ़ावा दिया जायेगा | वृक्षारोपण कर प्राकर्तिक आपदा जैसे की बाढ़, अनावृष्टि आदि को नियंत्रित किया जा सकेगा |

CG Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana के लाभ और विशेषताएं

  • अधिक वृक्षारोपण करने से भूमि के जल स्तर को उपर उठाने में मदद मिलेगी |
  • इस योजना से किसानो की आय दोगुनी होने के साथ साथ राज्य के नागरिको को रोजगार भी मिलेगा |
  • बड़े पैमाने पर लकड़ियों की आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सकेगी |
  • जी.डी.पी. में वृद्धि होगी |
  • योजना के तहत जो किसान अपने खेतो में धान की फसल के बदले पोधारोपण करते है उनको सरकार की और से 10,000 रूपये की वित्तीय मदद प्रति एकड़ प्रतिवर्ष दी जाएगी |
  • यह राशी लाभार्थी को एक वर्ष के बाद सफल वृक्षारोपण करने की दशा में दी जाएगी |
  • इस योजना का क्रियानवन प्रधान मुख्य वन सरंक्षक एवं वन बल प्रमुख के द्वारा कृषि उत्पादन आयुक्त के सहयोग से किया जायेगा | जिलो में इस योजना का क्रियानवन कलेक्टरों की निगरानी में किया जायेगा |
  • योजना के तहत इमारती, गैर इमारती, फलदार, बांस, लघु वनोपज एवं ओषधिय पोधो का रोपण किया जायेगा |
  • मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के तहत लाभार्थी को लाभ प्राप्त करने के लिए पोधारोपण के 6 महीने के भीतर सम्बन्धित वन परिक्षेत्र कार्यालय में पंजीकरण करना अनिवार्य होगा |
  • प्रति वर्ष सम्बन्धित वनामंडलाधिकारी के द्वारा इन पोधो का निरक्षण किआ जायेगा |
  • लाभार्थी को दी जाने वाली यह राशी लाभार्थी के बैंक खाते में DBT (Direct Benefit Transfer) के माध्यम से सीधे ट्रान्सफर की जाएगी इस लिए लाभार्थी का बैंक खाता होना जरुरी है |

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना PDF

आप इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है | अगर आप खुद से आवेदन नहीं करना चाहते है तो आप अपने नजदीकी जनसेवा केंद्र पर जाकर भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है | अगर आप ऑनलाइन आवेदन नहीं करना चाहते है तो आपको सबसे पहले इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana PDF Form डाउनलोड करना होगा और उसके बाद आपको आवेदन करना होगा |

छत्तीसगढ मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक छत्तीसगढ का स्थाई निवासी होना चाहिए |
  • राज्य के वे सभी किसान जो वर्ष 2020 में धान की खेती कर धान को शासन को बेचे थे वे इस योजना में आवेदन कर सकते है |
  • एसे वन अधिकार पत्र धारक व्यक्ति जिन्होंने पिछले वर्ष शासन को धान बेचा था और अब वे अपनी भूमि पर धान के बदले वृक्षारोपण कर रहे है तो एसे लोगो इस योजना में आवेदन कर सकते है |
  • एसे किसान जो नए सिरे से अपनी भूमि पर वृक्षारोपण करना चाहते है वे पात्र है |
  • सभी ग्राम पंचायत एवं संयुक्त वन प्रबंधन समितियां आवेदन करने के लिए पात्र है |

Vriksharopan Protsahan Yojana के लिए दस्तावेज

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन कैसे करें ?

अब बात करते है दोस्तों की आप इस योजना के लिए किस प्रकार से आवेदन कर सकते है | आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से इस योजना में आवेदन कर सकते है | आवेदन करने की दोनों प्रक्रिया के बारे में यहाँ पर जानकारी दी गई है |

Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana Online Apply

अगर आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो आप निचे दिए गए स्टेप फोल्लो करें :

  • सबसे पहले आपको Forest & Climate Change Department, Chhattisgarh की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद अगले पेज पर आप वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के डैशबोर्ड पर आ जायेंगे |
  • इस पेज पर आपको User Manual का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद अगले पेज पर आपके सामने फॉर्म ओपन हो जायेगा |
  • इस फॉर्म में आवश्यक जानकारी दर्ज करके आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है |

ऑफलाइन आवेदन कैसे करें ?

अगर आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं करना चाहते है तो आप ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है | ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आप निचे दिए गए स्टेप follow करें :

  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले इस योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा |
  • आप निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके फॉर्म डाउनलोड कर सकते है :
  • आवेदन पत्र (JFMC हेतु)
  • आवेदन पत्र (ग्राम पंचायत हेतु )
  • आवेदन पत्र (FRA हेतु)
  • आपको इन फॉर्म में से कोई एक फॉर्म डाउनलोड करना है |
  • फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी जैसे की नाम, मोबाइल नंबर, बैंक खाता विवरण आदि सही सही दर्ज करना है |
  • इस फॉर्म के साथ आपको अपने documents अटेच करने और इसे सम्बन्धित विभाग में जमा करवाना है |
  • इस प्रकार से आप ऑफलाइन आवेदन कर सकते है |

Vriksharopan Protsahan Yojana Login कैसे करें ?

  • इस पोर्टल पर लॉग इन करने के लिए सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करोगे आपके सामने Sign In फॉर्म दिखाई देगा |
  • इस फॉर्म में आपको यूजर नाम, पासवर्ड दर्ज करके लॉग इन कर लेना है |

Helpline Number

  • Toll Free Number : 1800 233 7000

Conclusion

इस article में हमने आपको Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksharopan Protsahan Yojana 2023 के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है | कोई भी किसान अपने खेत में वृक्षारोपण करके सरकार से वित्तीय मदद प्राप्त कर सकता है | मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए आपको इसमें आवेदन करना होगा |

छत्तीसगढ़ वोटर लिस्ट

छत्तीसगढ़ राशन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना से जुड़े सवाल:

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना क्या है ?

छत्तीसगढ सरकार के द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत जो किसान अपने खेत में धन की फसल के बजाय वृक्षारोपना करेंगे , सरकार उन्हें 10,000 रूपये की वित्तीय मदद प्रदान करेगी |

लाभार्थी को दी जाने वाली यह राशी कब तक दी जाती है ?

यह राशी प्रति एकड़ के हिसाब से 3 वर्ष तक लाभार्थी को दी जाती है |

Leave a Comment