Soil Health Card Scheme 2021: मृदा स्वास्थ्य कार्ड, Online Registration

Soil Health Card Scheme PDF | सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम पीडीऍफ़ | मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना क्या है | मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना pdf

सॉइल हेल्थ कार्ड – नमस्कार दोस्तों | आज के article में हम आपको मृदा स्वास्थ्य कार्ड के बारे में जानकारी देंगे | यदि आप एक किसान है तो यह article आपके लिए है | मृदा स्वास्थ्य कार्ड एक एसा कार्ड होता है जिसमे किसान के खेत की मिट्टी का रिकॉर्ड होता है |

मिट्टी का रिकॉर्ड से यह पता लगा जा सकता है की किस भूमि के लिए कोनसी फसल उपयोगी है | इस article में हम आपको Soil Health Card Scheme 2021 के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया , पात्रता , उद्देश्य आदि के बारे में जानकारी देंगे इस लिए आप इस लेख को अंत तक पढ़े |

SHC – soilhealth.dac.gov.in

जैसा की दोस्तों आप जानते है की केंद्र सरकार किसानो की मदद करने के लिए समय समय पर अनेक प्रकार की योजना लेकर के आ रही है | सरकार ने अब एक नई योजना जिसका नाम सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम है की शुरुवात की है | वर्ष 2015 में सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम को शुरू किया गया था |

प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के लिए, व्यापक मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन प्रथाओं को अपनाने के लिए, जल संसाधनों के उपयोग का अनुकूलन करने के लिए, आदि “मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन (SHM) NMSA.SHM के तहत सबसे महत्वपूर्ण हस्तक्षेपों में से एक है | किसानो की जमीन की मिट्टी की गुणवता का अध्यन करने के लिए किसानो को Soil Health Card कार्ड दिया जाता है |

Objective of Soil Health Card

मृदा स्वास्थ्य कार्ड के प्रकार से एक रिपोर्ट कार्ड होता है | जिसमे मिट्टी के गुण के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी होती है | किसान को उसकी जमीन की गुणवता के आधार पर यह कार्ड दिया जाता है जो की 3 साल में 1 बार दिया जाता है |

इस कार्ड का मुख्य उद्देश्य जैविक खादों और जैव उर्वरकों के साथ माध्यमिक और सूक्ष्म पोषक तत्वों सहित रासायनिक उर्वरकों के विवेकपूर्ण उपयोग के माध्यम से एकीकृत पोषक प्रबंधन बढ़ावा देना है |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड के तहत पहले चरण (वर्ष 2015 से 2017) में 10.74 करोड़ कार्ड और दुसरे चरण (वर्ष 2017-2019) में 11.69 करोड़ कार्ड वितरित किये गए है |

Soil Health Card Scheme के तहत मृदा स्वास्थ्य और इसकी उत्पादकता में सुधार, मिट्टी की उर्वरता में सुधार के लिए किसानों को मृदा परीक्षण आधारित सिफारिशें प्रदान करने के लिए मिट्टी और उर्वरक परीक्षण सुविधाओं को मजबूत करना, उर्वरकों की गुणवत्ता नियंत्रण आवश्यकताओं को सुनिश्चित करना, उर्वरक नियंत्रण आदेश, 1985 के तहत जैव-उर्वरक और जैविक उर्वरक, प्रशिक्षण और प्रदर्शनों के माध्यम से मिट्टी परीक्षण प्रयोगशाला कर्मचारियों, विस्तार कर्मचारियों और किसानों के कौशल का ज्ञान, जैविक खेती प्रथाओं आदि को बढ़ावा देना है |

Highlights of SHCS

Schemeसॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम
Launched byGovernment of India
BeneficiaryCountry farmers
ObjectiveSoil health care
Official Websitehttps://www.soilhealth.dac.gov.in/

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम कैसे काम करती है ?

सबसे पहले अधिकारिओ के द्वारा मिट्टी के सेम्पल इकठे किये जाते है उसके बाद उसे लेबोरेटरी में भेजा जाता है | विशेषज्ञों के द्वारा मिट्टी की जाँच की जाती है और अच्छी और कमजोर मिट्टी की सूचि तैयार की जाती है | उसके बाद मिट्टी में सुधार के सुझाव दिये जाते है | फिर किसानो के नाम पर एक एक करके रिपोर्ट को ऑनलाइन अपलोड किया जाता है | जिससे किसान आसानी से अपने मोबाइल फोन की मदद से मिट्टी की जानकारी ऑनलाइन ले सकता है |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना 2021 की विशेषताएं

  • राज्य सरकारों को प्रतेक सॉइल नमूनों के लिए कुल 190 रूपये प्रदान किया जाता है | इसमें सोयल सेम्पलिंग ,टेस्टिंग ,सोयल हेल्थ कार्ड सृजन एवं किसानो को वितरण सामिल है |
  • राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) ने एक समान Soil Health Card के सृजन एवं उर्वरक सिफ़ारिशो के लिए एक वेब पोर्टल soilhealth.dac.gov.in की शुरुवात की है जिसके चार मोड्यूल है जो की इस प्रकार से है :-
    • सॉइल नमूनों का पंजीकरण
    • सॉइल परीक्षण प्रयोगशालाओ में नमूनों का परीक्षण
    • सॉइल टेस्ट क्रोप रिस्पोंस (STCR) समीकरण पर आधारित उर्वरक सिफारिसे
    • MIS रिपोर्ट
  • मृदा स्वास्थय कार्ड योजना की थीम – स्वस्थ धरा, खेत हरा है |
  • Soil नमूने GPS उपकरण और राजस्व मानचित्रो की मदद से सिचित क्षेत्र में 2.5० और वर्षा सिचित क्षेत्र में 10० के ग्रिड लिए जायेंगे |
  • राज्य सरकार उनके कृषि विभाग के स्टोक या आउटसोर्स एजेंसी के स्टोक के माध्यम से नमूने एकत्रित करेगी | राज्य सरकार क्षेत्रीय कृषि महाविधालयो अथवा साइंस कोल्लेजो के विद्यालयों को भी इस योजना में सामिल कर सकती है |
  • रबी और खरीफ फसलो की कटाई के बाद साइल नमूने सामन्यत वर्ष में 2 बार लिए जाते है या जब खेत में कोई फसल ना हो |

SHC का प्रयोग किसान किस प्रकार से कर सकता है ?

सॉइल हेल्थ कार्ड में किसान के जोत की सोयल पोषक तत्व स्थिति के आधार पर सलाह निहित होती है | इसमें विभिन आवश्यक पोषक तत्वों की मात्रा के संबंद में सिफारिसो को दरसाया जाता है |

सॉइल हेल्थ कार्ड पर उपस्थित जानकारी

  • मिट्टी की सेहत
  • अन्य उपस्थित पोषक तत्व
  • खेत की उत्पादक क्षमता
  • पानी की मात्रा यानी नमी
  • खेतों की गुणवत्ता सुधारने हेतु उचित दिशनिर्देश
  • पोषक तत्व की मौजूदगी एवं पोषक तत्व की कमी

Soil Health Card Scheme Registration Process

यदि आप भी मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का लाभ लेना चाहते है और आप इस योजना से जुड़ना चाहते है तो आप निचे दिए गए स्टेप फोल्लो करें :-

Step 1: सबसे पहले आपको सॉइल हेल्थ कार्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |

सॉइल हेल्थ कार्ड कैसे बनाये

Step 2: वेबसाइट के होम पेज पर Login का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |

Step 3: अगले पेज पर अपने state को select करें और continue पर क्लिक करें |

Step 4: अब आपको Register New User का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |

Register New User

Step 5: आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन हो जायेगा | इसमें मांगी गई जानकारी सही सही दर्ज करें और सबमिट पर क्लिक कर दे | इस प्रकार से आपका रजिस्ट्रेशन हो जायेगा |

सॉइल हेल्थ कार्ड Login करने की प्रक्रिया

Step 1: soil health card की ऑफिसियल वेबसाइट पर आयें |

Step 2: Login के आप्शन पर क्लिक करें |

Step 3: अपने state को select करें |

Step 4: आपके सामने login फॉर्म ओपन हो जायेगा | इसमें यूजर नाम , पासवर्ड और केप्चा कोड इंटर करके login कर सकते है |

Track your sample

  • सबसे पहले सॉइल हेल्थ कार्ड योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |
  • वेबसाइट के होम पेज पर Track your sample का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • न्यू पेज आपके सामने ओपन हो जायेगा |
  • न्यू पेज पर आपसे कुछ जानकारी मांगी जाएगी वो सही सही एन्टर करें और search पर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आपके मिट्टी की सेम्पल की जानकारी आ जाएगी |

Print your soil health card

  • सबसे पहले मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर आयें |
  • होम पेज पर Print your soil health card का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • अपने state को select करें और continue पर क्लिक करें |
Print your soil health card
  • आपके सामने एक फॉर्म ओपन हो जायेगा | इसमें मांगी गई जानकारी enter करके आप सॉइल हेल्थ कार्ड प्रिंट कर सकते है |

अतिरिक्त फसलों के लिए मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रिंट करें

Step 1: इसके लिए सबसे पहले आपको सॉइल हेल्थ कार्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |

Step 2: वेबसाइट के होम पेज पर Print soil health card for additional Crops का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |

Step 3: अपने state को select करें और continue पर क्लिक करें |

Step 4: आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा | इसमें मांगी गई जानकारी enter करें और search पर क्लिक करें |

फसलों के लिए उर्वरक खुराक की जानकारी देखने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर आयें |
  • होम पेज पर Fertilizer Dosage for Crops का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • state को select करें |
  • उसके बाद फॉर्म में मांगी गई जानकारी enter करें और continue पर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद विवरण आपके सामने आ जायेगा |

मिट्टी परीक्षण प्रयोगशाला का पता लगाने की प्रक्रिया

  • ऑफिसियल वेबसाइट पर आयें |
  • होम पेज पर Locate soil testing laboratory का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |
  • state और district को select करें और View Report या View Map पर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद विवरण आपके सामने आ जायेगा |

Sample Registration Mobile App Download करें

Step 1: App डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले सॉइल हेल्थ कार्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |

Step 2: वेबसाइट के होम पेज पर Sample Registration Mobile App का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |

Step 3: क्लिक करने के बाद आपके डिवाइस में यह app डाउनलोड हो जायेगा |

स्कीम प्रोग्रेस रिपोर्ट कैसे देखें ?

  • सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट soilhealth.dac.gov.in पर आना होगा |
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको Scheme Progress का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करना है |
  • click करने के बाद अगले पेज पर आपके सामने Progress डैशबोर्ड ओपन हो जायेगा |
  • इस डैशबोर्ड के माध्यम से आप इस योजना की पूरी प्रोग्रेस रिपोर्ट चेक देख सकते है |

Contact Us

Step 1: सबसे पहले मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर आना होगा |

Step 2: वेबसाइट के होम पेज पर Contact Us का आप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें |

Step 3: क्लिक करने के बाद न्यू पेज पर आपके सामने कांटेक्ट डिटेल ओपन हो जाएगी |

Conclusion

दोस्तों इस article में हमने आपको Soil Health Card Scheme 2021 के बारे में पूरी जानकारी दी है | यदि आपको भी अपने खेत की मिट्टी की जाँच करवानी है और आपको मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के बारे में अधिक जानकारी लेनी है तो आप हमे निचे कमेंट में लिख सकते है | यदि आपको यह article अच्छा लगा है तो please आप इसे share करें |

FAQ:

Q. मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना क्या है ?

Ans. यह योजना भारत सरकार ,कृषि मंत्रालय ,कृषि एवं सहकारिता विभाग के द्वारा चलाई जा रही एक योजना है | इस योजना का कार्यान्वयन सभी राज्यों और केंद्र शाशित प्रदेश की सरकारों के कृषि विभागों के द्वारा किया जा रहा है | इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसान को उसके खेत के मृदा के पोषक तत्वों की स्थिति की जानकारी देना है |

Q. सॉइल हेल्थ कार्ड क्या होता है ?

Ans. यह एक एसा कार्ड होता है जिसमे किसान के खेत की मृदा की पूरी जानकारी होती है | जैसे की पोषक तत्व ,जिंक ,सल्फर , फेरस ,कॉपर , मैग्नेशियम आदि की जानकारी होती है |

Q. सॉइल हेल्थ कार्ड कैसे बनाये?

Ans. कोई भी किसान soil health card की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर के यह कार्ड बना सकता है |

Q. क्या किसान प्रतेक वर्ष और प्रतेक फसल के लिए यह कार्ड प्राप्त कर सकता है ?

Ans. यह 3 वर्ष के अन्तराल के बाद उपलब्ध करवाया जाता है जो उस अवधि के लिए किसान के जोत के मृदा स्वास्थय की स्थिति को दर्शाता है |

Q. मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना कब शुरू हुई?

Ans. इस योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 फरवरी, 2015 को राजस्‍थान के सूरतगढ़ में शुरू किया था |

Leave a Comment